षोडश संस्कार – आयुर्वेद और अध्यात्म का समन्वय

Share with:


Embed from Getty Images

भारतीय संस्कृतिमें आदर्श समाजजीवन वह उसके नींव में है।  आदर्श पुरुष, आदर्श परिवार एवं आदर्श समाज के साथ साथ हमारे सांस्कृतिक मूल्यो का आविष्कार पीढीयों तक हो उसके लिये हमारी भारतीय संस्कृति जाग्रत है । आदर्श भारतीय जीवन प्रणाली के पीछे राम-कृष्ण जैसे अवतार और मनु से लेकर वशिष्ठ, वाल्मिकि, पराशर, विश्वामित्र, याज्ञवल्क्य जैसे तपोनिष्ठ ऋषियों का उत्कृष्ट योगदान रहा है । भारतीय जीवन प्रणाली के तहत हर एक परिवारमें आदर्श जीवन प्रणाली का आग्रह रखा जाता था। हर एक परिवार इस संस्कार हेतु प्रयत्नशील था, और उसीका ही परिणाम उस समय पर व्यक्ति, परिवार और समाजमें दीखता था । यही संस्कार के मूल हमारे रंगसूत्रो के भीतर ऐसे सम्मिलीत हो गये है कि उसके परिणम स्वरूप आज इतनी पीढीयों के बाद भी उसके लिये हमारे भीतर एक भाव और जीवन में लाने का आग्रह आज जीर्ण अवस्थामें भी जीवंत है ।

इसी कारण आज भी भारतीय संस्कॄति के लीये जिनको आदर है और जिनके मन संस्कार का महत्व है और संस्कार प्राप्त करने के लिये जिनकी शारिरीक एवं मानसिक तैयारी है; यह पोस्ट उन नवदंपति के लिये आशिर्वादरुप बनी रहेगी ।

भारतीय संस्कृति के अनुसार मनुष्य योनिमें जन्म लेनेवाले प्रत्येक व्यक्ति पर होनेवाले संस्कारो का सुप्रयोजित वर्णन हमारे धर्मग्रंथो में किया गया है और उसके लिए सुस्पष्ट आग्रह भी रखा है ।

गर्भसंस्कार से शुरु करके मृत्यु तक होने वाले सभी संस्कार शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक तीनो पहलू को प्रकाशित करता है । इसलीए जिनके मन मनुष्य जन्म का महत्व है और जो अगली पीढी तक संस्कार सिंचन की इच्छा रखते है; ऐसे जाग्रत पति – पत्निके लिए हमारे ऋषियोंने यह मार्गदशन किया है ।

इन सभी संस्कारो में कई संस्कारो के पीछे आयुर्वेदका आरोग्य का विशेष द्रष्टिकोण छीपा है । इसलिये इसके बारे में विस्तारसे समज बनाना यह हमारी प्राथमिकता रहेगी । यह सभी संस्कारोकी रीति, परंपरा, उनकी गिनतीमें विस्तार के अनुसार फर्क हो सकता है। एक तरीके से देखे तो सभी संस्कार सोलह ही है ऐसा न होते  हुए उससे अधिक । गिनती बारे में न सोचते हुए उस संस्कार के पीछे हेतु, समज और रीति को देखना आवश्यक है।

यहां पर हमने विशेषतः बच्चो पर होनेवाले संस्कार पर ध्यान केन्द्रित करने का प्रयत्न है ।


संपर्क

गर्भ संस्कार केन्द्र

वैद्य निकुल पटेल
आयुर्वेद कन्सल्टन्ट
Phone : +91-79-400 80844
Mobile : +91-98250 40844 ( do not call for free guidance)
WhatsApp : https://wa.me/919825040844


अथर्व आयुर्वेद क्लिनिक एवं पंचकर्म सेन्टर
३०७, तीसरी मंजिल, शालिन कोम्प्लेक्स, फरकी के उपर
कॄष्णबाग, मणीनगर, अहमदाबाद. गुजरात ३८०००८
फोन – 079-400 80844
मोबाईल – +91- 98250 40844 (केवल एपोईन्टमेन्ट के लिए)
Timings : 10.00 to 6.30 pm ( Mon to Fri)
Email : info@lifecareayurveda.com


आयुर्वेद के टिप्स पाने के लिये हमारे whatsapp नंबर +91 – 9825040844 पर ‘AYU’ संदेश भेजे
Telegram – हमारी विविध चेनल से जुडिये –
• Gujarati Tips – https://t.me/ayurvedaguj
• Hindi Tips – https://t.me/ayurvedahin
• English Tips – https://t.me/aurvedaeng
• Sexologist Tips – https://t.me/sexologistayu
• Facebook – http://bit.ly/fb_lifecare
• Twitter – http://bit.ly/lifecare_twit
• Instagram – http://bit.ly/atharva_insta
• Pinterest – http://bit.ly/atharva_pin

For Online Appointment
http://bit.ly/Drnikulpatel_app


हमारी निम्न वेबसाईट की मुलाकात करें।
http://lifecareayurveda.com
http://qa.lifecareayurveda.com
http://hindi.lifecareayurveda.com
http://qa.hindi.lifecareayurveda.com
http://gujarati.lifecareayurveda.com
http://qa.gujarati.lifecareayurveda.com
http://sexologist.lifecareayurveda.com

Comments

Leave a Reply